ads

adss

adsss

adsss

  • जल संकट से जूझ रहे ग्रामीणों ने सहभागिता कार्ययोजना से तालाब का किया संरक्षण
  • June 09, 2017
  • जलसंकट से जूझते रााज्य में तालाब गहरीकरण के लिए कर्ज लेने का यह संभवतः पहला मामला है। ग्रामीणों ने दस साल तक तालाब की सफाई और गहरीकरण के लिए शासन-प्रशासन से फरियाद की। इस साल इस बीच एक एनजीओ ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया, पर उसने भी करीब दो एकड़ तालाब की सफाई कर हाथ खड़ा कर दिया। पर तबतक गहरीकरण के लिये  ग्रामीण तालाब का पानी बहा चुके थे। 12 एकड़ क्षेत्र में फैला यह तालाब ही पूरे गांव के निस्तारी का एकमात्र साधन है। हर साल तालाब की सफाई या गहरीकरण संभव नहीं है। कोई रास्ता न सूझने पर ग्रामीणों ने आपसी परामर्श से जनसहभागिता से तालाब का गहरीकरण कर जल संरक्षण करने के लिए कार्ययोजना बनाई। ग्रामीणों ने बिना किसी सरकारी मदद के 12 एकड़ विस्तृत क्षेत्र में फैले तालाब से कीचड़ और मलबे को बाहर निकाल फेंका है। किसानों ने अपने 25 ट्रैक्टर तालाब का मलबा फेंकने के लिए लगाया। तालाब बनाने में कुल पाच लाख की लागत आयी जिसमें दो लाख रूपये का फंड गांव वालों से और फिर तीन लाख का ब्याज पर साहूकार से कर्ज पर लिया गया। इसे अब गांव के हर घर से जनसहभागिता के तहत अंशदान लेकर चुकाया जायेगा।  

  • Post a comment
  •       
Copyright © 2014 News Portal . All rights reserved
Designed & Hosted by: no amg Chaupal India
Sign Up For Our Newsletter
ads