search
news chaupal
हिंदू न्यूज़ चैनलों का उदय़, कंटेंट, रेवेन्यू मॉडल औऱ भविष्य - अंशुमान त्रिपाठी हिंदू न्यूज़ चैनलों का उदय़, कंटेंट, रेवेन्यू मॉडल औऱ भविष्य - अंशुमान त्रिपाठीPosted On 15 Sep 2020सुप्रीम कोर्ट ने सुदर्शन टीवी के मुस्लिम विरोधी कार्यक्रम पर रोक लगाते हुए न्यूज़ चैनलों के व्यवसायिक मॉडल, मालिकाना हक और स... Read more »
कृषि क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के लिए लाख करोड़ के निवेश को लेकर उठ रहे सवाल,- अंशुमान त्रिपाठी कृषि क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के लिए लाख करोड़ के निवेश को लेकर उठ रहे सवाल,- अंशुमान त्रिपाठीPosted On 30 Aug 2020कृषि क्षेत्र को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार करेगी लाख करोड़ रुपए का निवेश, लेकिन कौन है असल हकदार और किसे मिलेगा फायदा, उठ... Read more »
क्या मीडिया बन चुका है नफरती सियासत का साझीदार,आखिर वजह क्या है..-अंशुमान त्रिपाठी क्या मीडिया बन चुका है नफरती सियासत का साझीदार,आखिर वजह क्या है..-अंशुमान त्रिपाठीPosted On 14 Aug 2020कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का स्टूडियो डिबेट के दौरान मौत से उठे कई गंभीर सवाल, क्या मीडिया बन चुका है नफरत का सियासी सा... Read more »
देश को 34 साल बाद मिली नई शिक्षा नीति, कितनी आदर्श कितनी व्यावहारिक   -अंशुमान त्रिपाठी देश को 34 साल बाद मिली नई शिक्षा नीति, कितनी आदर्श कितनी व्यावहारिक -अंशुमान त्रिपाठीPosted On 03 Aug 2020के कस्तूरीरंगन कमेटी के द्वारा तैयार की गई नई शिक्षा नीति को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है. इसमें नर्सरी से लेकर उच्च शिक्... Read more »
मजबूरी को स्वभाव ना कहिए मोदीजी, खून में व्यौपार की निगाहों से ना देखा कीजे हुजूर..!! लेख- अंशुमान त्रिपाठी मजबूरी को स्वभाव ना कहिए मोदीजी, खून में व्यौपार की निगाहों से ना देखा कीजे हुजूर..!! लेख- अंशुमान त्रिपाठीPosted On 19 May 2020पीएम मोदी ने मजदूरों के पलायन को मनुष्य का स्वभाव बता कर सरकार के निकम्मेपन को छिपाने की कोशिश की. लेकिन सच्चाई तो ये है कि ... Read more »
एक औऱ बंटवारा,इंडिया और भारत में बढ़ी दूरियां,मजदूर चला अपने गांव - लेख- अंशुमान त्रिपाठी एक औऱ बंटवारा,इंडिया और भारत में बढ़ी दूरियां,मजदूर चला अपने गांव - लेख- अंशुमान त्रिपाठीPosted On 14 May 2020कोरोना से देश की विषमता को बेनकाब कर दिया है.मजदूरों का भरोसा टूटा,शहर छोड़ चला, कहा गांव की गरीबी में गुजारा करेंगे... Read more »
मजदूर सिर्फ सस्ती लेबर नहीं, इंसान भी है जहांपनाह,मत दिलाईए गोरों की याद, लेख-अंशुमान त्रिपाठी मजदूर सिर्फ सस्ती लेबर नहीं, इंसान भी है जहांपनाह,मत दिलाईए गोरों की याद, लेख-अंशुमान त्रिपाठीPosted On 07 May 2020मजदूर सस्ती लेबर होने के अलावा एक इंसान भी है जहांपनाह. उसकी भी कुछ हसरतें है,नाते-रिश्ते हैं हुजूर. उसे आपके और आपके पैसेवा... Read more »
मरीज भी अब तुम्हारे हवाले साथियों, हल्के लक्षणों पर घर में इलाज़ की सशर्त छूट के मायने -अंशुमान त्रिपाठी मरीज भी अब तुम्हारे हवाले साथियों, हल्के लक्षणों पर घर में इलाज़ की सशर्त छूट के मायने -अंशुमान त्रिपाठीPosted On 29 Apr 2020स्वास्थ्य मंत्रालय ने हल्के लक्षण या प्रीसिंप्टोमैटिक होने पर घर पर ही इलाज़ कराने की सशर्त छूट दे दी है.लेकिन राजनीति, समाज... Read more »
लॉकडॉउन पर असमंजस, भूख औऱ बेरोजगारी से दोगुनी मौत का अंदेशा, कोरोना के आगे भी लाचार लॉकडॉउन पर असमंजस, भूख औऱ बेरोजगारी से दोगुनी मौत का अंदेशा, कोरोना के आगे भी लाचारPosted On 28 Apr 2020केंद्राक सरकार में जनीतिक इच्छाशक्ति का अभाव नज़र आ रहा है. लॉकडॉउन को लेकर स्पष्ट नीति नहीं बना पा रही है.भयावह मंदी, बंद उ... Read more »
विश्व पृथ्वी दिवस पर प्रकृति का संदेश, जीवन-जगत को बचाने के लिए प्रेम और मानवता एकमात्र रास्ता विश्व पृथ्वी दिवस पर प्रकृति का संदेश, जीवन-जगत को बचाने के लिए प्रेम और मानवता एकमात्र रास्ताPosted On 23 Apr 2020विश्व पृथ्वी दिवस पर कोरोना संकट ने एक बार सबको प्रकृति ने चेतावनी दी है. जीवन और जगत के लिए धरती और उसके बेटों को प्यार कर... Read more »
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
  • 6
  • 7
  • 8
  • 9
  • 10
  • Next >>
Copyright © 2014 News Portal . All rights reserved
Designed & Hosted by: no amg Chaupal India
Sign Up For Our Newsletter
NEWS & SPECIAL INSIDE!
ads